KHOJ

Loading

सोमवार, 11 अप्रैल 2011

lyrics ki koshish

छत  पर  थे  मिलते 
खुशियों  से  बातें  थे  बुनते 
यादें  सुनहरी आती  है  आज .
दोस्तों  का  ख्याल  है  बस   दिल  में .......
करता  हूँ  याद ....
यादें  सुनहरी  आती  है  आज .
हवा  चलती  थी .......धुन  कोई  मचलती  थी .....
सुनता  हूँ   साज ..........
यादें  .....यादें  सुनहरी  आती  है  आज
गहराई  है  कितनी   बातों  में  उनकी  ..
यादें  bnke  सवेरा  जो  आती  है  रोज ...
खो  जाता  हूँ  ....उस  मस्ती  के  दौर  में ...
मिलते  थे  हम
छोड़  सारे   काम  काज  .
यादें  सुनहरी .......
सिमटी  हुई  गहरी .....यादें  सुनहरी  आती  है  आज .
वो  छत  भी  है  सूनी   आज ........
बातें  है  बस  ...और  उनका  ख्याल ....
हवा  चलती  है ..पर  न  कोई  धुन  मचलती  है  आज .....
बस  यादें ... यादें   सुनहरी  आती  है  आज  ....:)

Reactions:

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

comments

 
Design by Free WordPress Themes | Bloggerized by Lasantha - Premium Blogger Themes |